What is Web Hosting in Hindi वेब होस्टिंग क्या है?

What is web hosting in hindi वेब होस्टिंग क्या है यह जानने के लिए आपको थोड़ा आसान भाषा में समझाता हूं | जिस प्रकार में घर बनाने के लिए पलॉट यानी जगह खरीदते हैं | या उसकी जरूरत पड़ती है | ठीक उसी प्रकार से नेट की दुनिया में भी वेबसाइट को लाइव दिखाने के लिए हमें वेब होस्टिंग की जरूरत पड़ती है

एक प्रकार से होस्टिंग हमारी वेबसाइट का आधार है जिस पर हमारी Website खड़ी होती है अगर होस्टिंग नहीं होगी तो हमारी वेबसाइट भी नहीं होगी इसलिए हमें वेबसाइट बनाने के लिए Hosting की जरूरत पड़ती है |

हम इस Post में जानेंगे की What is web hosting in hindi  वेब होस्टिंग क्या होता है ये कितने प्रकार होते हैं Types of web hosting in Hindi यह कैसे काम करता है इसके क्या-क्या features होते हैं Difference between Hosting and Domain  होस्टिंग और डोमेन में क्या अंतर है आदि |

वेब होस्टिंग क्या होता है ?  What is web hosting in hindi

वेब होस्टिंग क्या है अब मैं आपको थोड़ा खुलकर समझाता हूं हम अपनी वेबसाइट बनाने है चाहे वो WordPress में हो या फिर Php में हो हम साइट पर Content  लिखते हैं यानी पोस्ट पब्लिश करते हैं वीडियो अपलोड करते हैं फोटो अपलोड करते हैं वेबसाइट के लिए इमेज बनाते हैं और वेबसाइट पर अनेक प्रकार के पेज बनाते हैं हमें इन सब डाटा को सेव रखना होता है | यह सब Save होगा तभी हम अपनी वेबसाइट पर आने वाले users यह विजिटर को यह इंटरनेट के द्वारा दिखा पाएंगे|

Web hosting एक प्रकार की हार्ड ड्राइव होती है जिसमें हम हमारी सभी प्रकार की फाइलें फोटो पिक्चर उसके अंदर अपलोड कर कर सेव rakhte हैं | हम अपने Laptop या computer को bhi होस्टिंग बना सकते हैं लेकिन उसके लिए हमें बहुत खर्चा करना होगा और इसके अलावा अनेक प्रकार के उपकरणों की भी जरूरत पड़ेगी जिंहे खरीदने के लिए काफी पैसों की जरूरत पड़ेगा |

क्योंकि वेबसाइट को लाइव रखने के लिए हमें 24 घंटे Internet चाहिए 24 घंटे लाइट चाहिए ताकि हम हमारी वेबसाइट पर आने वाले विजिटर हमारा सेव किया हुआ डाटा दिखा सके और इसके अलावा हमें हमारे सरवर को मेंटेन रखना होगा इसे मेंटेन करने के लिए बहुत खर्चा हो जाता है जो हम उठा नहीं सकते |

इसलिए हमें होस्टिंग खरीदनी पड़ती है जो कंपनी हमें Web hosting देती है उनके पास खुद की टीम होती है जिसमें टेक्निकल स्टाफ होता है खुद का पावर हाउस होता है और खुद का पावरफुल Server होता है वह सभी हमें 24 घंटे हमें सर्विस देते हैं हम किसी भी समय उनसे फोन कर कर सहायता ले सकते हैं |

जब Aap इन कंपनियों से Hosting खरीदते हैं तो यह Compney कुछ चार्ज लेती है वह आपकी मर्जी है आप inhe चार्ज हर महीने दे या फिर पूरे साल का एक साथ दें | और इनसे हमें वेबसाइट बनाने के लिए Web hosting मिल जाती है |

वेब होस्टिंग कितने पारकर की होती है? Types of web hosting in Hindi

Web hosting अनेक प्रकार की होती है हमें अपनी वेबसाइट के ट्रैफिक को ध्यान में रखते हुए और Plan खरीदना चाहिए |

  1. Shared Hosting
  2. Dedicated Hosting
  3. VPS Hosting
  4. Cloud Hosting

Shared Hosting  शेयर्ड होस्टिंग क्या होता है

यह कुछ इस पारकर से है अगर आपको आसान भाषा में समझाऊं तो Shared Hosting एक सरकारी बस की तरह होती है जिसमें हम एक साथ कई मुसाफिर सफर करते हैं और हमें कम पैसे देकर yah सर्विस मिल जाती है ठीक इसी पारकर Shared Hosting ये काम करती है यानी कि इस एक Server पर एक साथ कई वेबसाइट host कर दी जाती है |

What is web hosting in hindi

यह सभी वेबसाइट एक ही server की REM , CPU का इस्तेमाल करते हैं इसलिए यह बहुत ही सस्ती होती है अगर आपने अभी अभी अपनी नई वेबसाइट बनाई है तो यह आपके लिए बहुत ही अच्छी सर्विस है क्योंकि बिल्कुल नई वेबसाइट पर ट्रैफिक बहुत कम होता है ऐसे में हमें यही होस्टिंग खरीदनी चाहिए |

पर जिस प्रकार बस में भीड़ होने पर हमें थोड़ी दिक्कत होती है ठीक उसी प्रकार जब हमारी वेबसाइट पर धीरे-धीरे ट्राफिक आने लगता है तो हमें थोड़ी दिक्कत का सामना करना पड़ सकता है जिसमें हमारी Website खुलने में थोड़ा जादा समय लेगी या Website speed slow ho jati hai फिर कभी कभी कुछ Techinal error भी आने लग जाएंगे ऐसे में हमें होस्टिंग को अपग्रेड करना पड़ता है

Dedicated Hosting होस्टिंग क्या होता है

इस सर्विस में आपको अपना खुद का server दे दिया जाता है जिसमें CPU Rem Bandwitch सभी पर आप का ही अधिकार होता है लेकिन यह shared होस्टिंग से बहुत ज्यादा महंगा होता है इसका कारण यह है कि इस server पर सिर्फ आपकी ही वेबसाइट host होती है अगर आप की वेबसाइट पर बहुत ज्यादा ट्रैफिक है तो आप यह होस्टिंग प्लान खरीदेना होता हैं |

Dedicated Hosting

मान लो जैसे आपकी वेबसाइट ecommerce website ईकॉमर्स वेबसाइट है जो बहुत बड़ी है जैसे Amazon Flipkart  आदि तो आप आप इस प्लान को खरीद सकते हैं |

VPS (Virtual Private Server)  Hosting वीपीएस होस्टिंग

यह Shared Hosting और Dedicated Hosting को जोड़कर बनाई गई Plan होती है जिसे हम Virtual Private Server कहते है इस सर्विस में आपके पास Dedicated server तो होता है पर वह virtual server होता है |

vps hosting

समझने के लिए virtual server इस service mein ek server ko Kai bhag mein bant Diya jata hai jismein aapko ek website ke liye ek virtual server Diya jata hai

इस सर्विस में आपकी वेबसाइट को बहुत स्पेश mil जाता है shared  होस्टिंग की speed से is ki speed बहुत ज्यादा Fast होती है |

यह hosting उस Dedicated Hosting  से अच्छी नहीं होती पर Shared Hosting  से बहुत अच्छी होती है अगर आप की वेबसाइट par Load टाइम बहुत ज्यादा है तो आपको यह प्लान खरीदेना  चाहिए यह आपकी वेबसाइट को बहुत ही ज्यादा फास्ट बना देती है |

Cloud Hosting  क्लाउड होस्टिंग

जब आप की वेबसाइट का कोई कंटेंट पोस्ट वायरल हो जाता है और आपकी वेबसाइट पर अचानक से ट्रेफिक बड जाता है तब इस server का उपयोग किया जाता है |

cloud hosting

VPS वी पी एस और Dedicated  डेडीकेट सरवर में आपके पास स्टोरेज और कैपेसिटी की एक लिमिट होती है | लेकिन हर कोई वेबसाइट इस लिमिट तक नहीं पहुंच पाती पर अगर हमारे द्वारा लिखी गई पोस्ट बहुत ही शानदार यह अच्छी है और वह वायरल हो जाती है उस पोस्ट की वजह से

हमारी वेबसाइट पर बहुत ज्यादा ट्रैफिक आने लगता है जो हमारा VPS या Dedicate server  होस्टिंग प्लान है वह इसे मैनेज नहीं कर पाता ऐसे में हमें Cloud Hosting  कलाउड होस्टिंग का सहारा लेना पड़ता है | पर आज के समय में यह होस्टिंग प्लान आम हो गया है इसे हर कोई यूज करता है जिसके पास पैसे हैं वह कुछ भी कर सकता है |

Cloud Hosting  क्लाउड होस्टिंग को अनेक यानी की बहुत ज्यादा डेडीकेटेड Dedicated  server मिलकर आपकी वेबसाइट को होस्ट करते हैं चाहे आप की वेबसाइट पर कितना भी ट्रैफिक आ जाए फिर भी आप की वेबसाइट डाउन नहीं होगी लोडिंग स्पीड कम नहीं होगी |

इस Hosting plan mein VPS ya Dedicated प्लान की तरह अपने मन मुताबिक बदलाव नहीं कर सकते और ना ही आप इसमें कोई सॉफ्टवेयर को इंस्टॉल कर सकते हैं |

Difference Between Hosting and Domain वेब होस्टिंग और डोमेन में क्या अंतर है

Hosting aur Domain दोनों अलग-अलग हैं इंटरनेट पर आपको अनेक कंपनी मिल जाएगी जो आपको डोमेन होस्टिंग दोनों ही सेल कर रही होंगी जिनमें से Namecheap , Godaddy , Bigrock , a2hosting यह सभी होस्टिंग और डोमेन कंपनियां है जो आपको Hosting और Domain एक साथ देती है |

अगर आपको होस्टिंग खरीदनी है तो आपको a2hosting से होस्टिंग खरीदनी चाहिए क्योकि इनकी सर्विस बहुत ही बहतरीन है में पिचले 2 साल से इसे ही इस्तेमाल कर रहा हु और संतुस्ट हु |

अगर आप को डोमिन नाम खरीदना है तो Godaddy से ख़रीदे ये डोमेन registion पूरी दुनिया की No1 कम्पनी है |

Difference between Hosting and Domain  Domain क्या है अगर Hosting हमारा घर है तो Domain हमारे घर का पता है अगर हमें किसी जगह का पता मालूम होगा तो हम वहां आसानी से पहुंच जाएंगे जैसे हम अपने मोबाइल ब्राउज़र में जब कोई वेबसाइट खोलते हैं उसके लिए टाइप करते हैं उदाहरण के लिए google.com  तो google.com एक डोमिन है डोमेन की अनेक प्रकार की एक्सटेंशन होती है जैसे .com , .in , .org , .net , .co.in

एक होस्टिंग प्लान में क्या-क्या Features होने चाहिए

अगर आप वेबसाइट बनाने के लिए Hosting खरीद रहे हो तो आपको यह जानना बहुत जरूरी है कि आपकी होस्टिंग कंपनी आप को क्या क्या सुविधा आपकी होस्टिंग में दे रही है |

UP Time: सबसे पहले तो आप जिस कंपनी से Hosting ले रहे हैं उसके बारे में जाने की वह आपकी वेबसाइट को 1 दिन के 24 घंटों में कितने टाइम तक लाइव रख सकती है वैसे तो सभी होस्टिंग देने वाली कंपनियां 99.9% का दावा करती है |

Storage: उसके बाद आती है बात storage की सभी कंपनियां आपको 1GB 2GB 50 जीबी स्टोरेज देती है जिसमें आप अपनी वेबसाइट की कंटेंट पिक्चर यह वेबसाइट के पेज को सेव रखते हैं आपको अपनी जरूरत के अनुसार डिस्क स्पेस चुनना होगा |

Bandwidth: यह बहुत जरूरी होता है अगर आपकी वेबसाइट का Bandwidth भी बहुत ज्यादा है तो आपकी वेबसाइट को एक ही समय में आने वाले जादा यूजर Bandwidth की वजह वेबसाइट को आसानी से खोल या देख पाएंगे और किसी प्रकार की दिक्कत नहीं होगी कम Bandwidth भी आपकी साइट को स्लो कर देती है |

Backups: आपको वेब होस्टिंग खरीदते समय चेक कर लेना चाहिए कि जो जिस कंपनी से आप वेब होस्टिंग खरीद रहे हैं वह आपकी वेबसाइट का बैकअप कितने समय में लेती है अगर कल को आपकी वेबसाइट से कोई फाइल डिलीट हो जाए तो आप उसको कस्टमर केयर से संपर्क करके उसका बैकअप ले सकते हैं |

Email: ये फ़िचेर bhi bahut jaruri hota hai क्योंकि हमारी हमारी वेबसाइट के लिए एक पर्सनल Email Address बनाना होता है तो यह भी देख लें कि वह होस्टिंग कंपनी आपको ईमेल होस्टिंग सेवा दे रही है या नहीं [email protected]

Customer Sport :यह सुविधा बहुत ही जरूरी होती है पहले चेक कर ले क्या यह कंपनी आपकी समस्याओं का हल मोबाइल फोन पर बात करके या फिर लाइव चैट करके हम कर सकती हैं और यह आपसे कितने समय में बात कर सकती है क्योंकि जब भी आपकी वेबसाइट में किसी प्रकार की दिक्कत हो तो आप उनके कस्टमर केयर से जल्दी से बात करके अपनी समस्या को सुलझा सकें |

Final Words

धन्यवाद दोस्तों मेरी यह पोस्ट पढ़ने के लिए मेरे द्वारा What is web hosting in hindi लिखी गई पोस्ट आपको अच्छी लगी हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर करें अगर इस पोस्ट में किसी प्रकार की कोई कमी रह गई है तो आप हमें कमेंट करके बता सकते हैं | हम उसे जरुर सुधरेगे मिलते है फिर एक नै पोस्ट में

krrish Inkhiya

मैं, GodsunsaT.Com का संस्थापक और मुख्य संपादक, Krrish Inkhiya हूँ मैं एक लेखक हूं और मुझे लिखना पसंद है यहां आपको 2018 से हिंदी पेशेवर में नई जानकारी मिलेगी

Leave a Comment